BANNER NEWSBREAKING NEWSकोरोना वायरसदुनियादेश

कोरोना वायरस : N-95 मास्क पर सरकार की बड़ी चेतावनी, जाने आखिर क्यों बताया इसे खतरनाक ?

सरकार द्वारा सीधे तौर पर बता दिया गया है कि छिद्र युक्त N95 मास्क संक्रमण रोकने में नाकामयाब हैं. सरकार की ओर से जारी एडवाइजरी के मुताबिक कोरोना से बचने के लिए ट्रिपल लेयर मास्क का इस्तेमाल सबसे ज्यादा सुरक्षित है.

देश भर में बढ़ रहे कोरोना के कहर से बचने के लिए अगर आप भी N-95 मास्क (N95 mask) का इस्तेमाल कर रहे हैं तो ये खबर आपके लिए बेहद जरूरी हो जाती है. कोरोना के बढ़ते मामलों को देखते हुए सरकार की ओर से मास्क (Mask) को लेकर एक एडवाइजरी जारी की गई है. इस एडवाइजरी में N-95 मास्क को कोरोना के लिए खतरनाक बताया गया है.

केंद्र ने सभी राज्यों और केंद्रशासित प्रदेशों को पत्र लिखकर एन-95 मास्क (N-95 mask Latest News) पहनने के खिलाफ चेतावनी जारी कर कहा है कि इससे वायरस का प्रसार नहीं रुकता और यह कोविड-19 महामारी को रोकने के लिए उठाए गए कदमों के ‘विपरीत’ है.

स्वास्थ्य मंत्रालय में स्वास्थ्य सेवा महानिदेशक राजीव गर्ग ने राज्यों के स्वास्थ्य एवं चिकित्सा शिक्षा मामलों के प्रधान सचिवों को पत्र लिखकर कहा है कि सामने आया है कि अधिकृत स्वास्थ्य कर्मियों की जगह लोग एन-95 मास्क का ‘अनुचित इस्तेमाल’ कर रहे (N-95 Mask Not Good for Covid-19) हैं, खासकर उनका जिनमें छिद्रयुक्त श्वसनयंत्र लगा है. उन्होंने कहा, ‘आपके संज्ञान में लाया जाता है कि छिद्रयुक्त श्वसनयंत्र लगा एन-95 मास्क कोरोना वायरस के प्रसार को रोकने के लिए अपनाए गए कदमों के विपरीत है क्योंकि यह वायरस को मास्क के बाहर आने से नहीं रोकता. इसके मद्देनजर मैं आपसे आग्रह करता हूं कि सभी संबंधित लोगों को निर्देश दें कि वे फेस/माउथ कवर के इस्तेमाल का पालन करें और एन-95 मास्क के अनुचित इस्तेमाल को रोकें.’

आपको बता दें कि देश में ज्यादातर लोगों के मन में यही धारणा है कि साधारण कपड़े से चेहरे को कवर करने से ज्यादा अच्छा N-95 मास्क का प्रयोग करना है. लेकिन अब यह सरकार द्वारा सीधे तौर पर बता दिया गया है कि छिद्र युक्त N95 मास्क संक्रमण रोकने में नाकामयाब हैं.

सरकार की ओर से जारी एडवाइजरी के मुताबिक कोरोना से बचने के लिए ट्रिपल लेयर मास्क का इस्तेमाल सबसे ज्यादा सुरक्षित है. विश्व स्वास्थ्य संगठन (WHO) ने भी वाल्व वाले मास्क से बेहतर ट्रिपल लेयर मास्क को बताया है और इस संबंध में संगठन ने दुनियाभर के देशों को दिशा निर्देश भी जारी किए हैं. यही वजह है कि अब चिकित्सक और स्वास्थ्य कर्मचारी एन-95 के साथ ट्रिपल लेयर मार्क्स भी प्रयोग कर रहे हैं.

बता दें कि लोग बड़े पैमाने पर N-95 मास्क का इस्तेमाल कर रहे हैं. देश में बढ़ते कोरोना मामले के बीच सरकार की यह चेतावनी अहम हो गई है. सरकार के आदेश के बाद अब बिना छिद्र युक्त मास्क का प्रयोग बढ़ सकता है. देश में करीब साढ़े 11 लाख कोरोना के केस हो गए हैं जबकि इस जानलेवा बीमारी के कारण 28 हजार से ज्यादा लोगों की मौत हुई है.

Tags
Show More

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *