BANNER NEWSBREAKING NEWSकोरोना वायरसदेशबिहार

बिहार में विस्फोटक हुआ कोरोना, आज घोषित हो सकता है पूर्ण लॉकडाउन !

बिहार में जून महीने में जहां एक दिन में पॉजिटिव केस मिलने की रफ्तार दो से ढ़ाई सौ थी उसने जुलाई महीने में रफ्तार पकड़ ली. यह रफ्तार अब रोज 11 सौ से 12 सौ केस तक पहुंच चुकी है.

बिहार में कोरोना के बढ़ते कहर ने नीतीश सरकार को चिन्ता में डाल दिया है. यहां कोरोना ने बेहद ही भयानक और डरावनी शक्ल अख्तियार कर ली है. प्रतिदिन एक हजार से ज्यादा नए मरीज मिल रहे हैं, जिसके कारण राज्य सरकार एक बार फिर से पूर्ण लॉकडाउन की तरफ बढ़ रहा है.

संक्रमितों और मौत के आंकड़ों में लगातार बढ़ोतरी के बाद मंगलवार को बिहार सरकार ये फैसला ले सकती है. मंगलवार को सरकार ने आलाधिकारियों की बैठक बुलाई है. इसमें राज्य में बढ़ते कोरोना के मामलों की समीक्षा होगी और अंतिम तौर पर लॉकडाउन पर सहमति बनाई जाएगी.

बिहार में कोरोना से मौत का आंकड़ा भी कम भयावह नहीं है. आपको बता दें कि राज्य में पिछले कुछ दिनों में कोरोना के मामले राज्य स्तर पर तेजी से बढ़े हैं. जून महीने में जहां एक दिन में पॉजिटिव केस मिलने की रफ्तार दो से ढ़ाई सौ थी उसने जुलाई महीने में रफ्तार पकड़ ली. यह रफ्तार अब रोज 11 सौ से 12 सौ केस तक पहुंच चुकी है.


लगातार बढ़ते मामलों को देखते हुए सात जुलाई को मुख्य सचिव दीपक कुमार ने जिलाधिकारियों के साथ वीडियो कांफ्रेंस कर निर्देश दिए कि डीएम अपने-अपने क्षेत्र में कोरोना के बढ़ते मामलों का आकलन करें और आवश्यकता के आधार पर आंशिक लॉकडाउन का निर्णय लें. मुख्यसचिव के निर्देश के बाद पहले भागलपुर इसके बाद 10 जुलाई से पटना में आंशिक लॉकडाउन लागू किया गया. ही दिन करीब 15 जिलों में आंशिक लॉकडाउन लगा दिया गया.

ऐसे में अब सरकार ने लॉकडाउन को लेकर कठोर कदम उठाने का फैसला किया है. राज्य के मुख्य सचिव दीपक कुमार ने इसकी पुष्टि करते हुए कहा कि सरकार पूर्ण लॉकडाउन पर विचार कर रही है. मंगलवार तक इस संबंध में कोई अंतिम निर्णय लिया जाएगा.

मालूम हो कि देश के साथ-साथ बिहार में भी 31 मई तक लॉकडाउन रहा. इसके बाद एक जून से अनलॉक 1.0 और जुलाई से अनलॉक 2.0 प्रभावी किया गया. अनलॉक शुरू होने के साथ ही कोरोना के मामले तेजी से बढऩे लगे. जिसके बाद प्रदेश के कुछ जिलों में आंशिक लॉकडाउन किया गया. जिसे अब पूर्ण लॉकडाउन में बदलने की तैयारी है.

Tags
Show More

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *