BANNER NEWSBREAKING NEWSदेशबिहारसोशल मीडिया

फैक्ट चेक : “साइकल गर्ल” ज्योति पासवान ज़िंदा है, रेप और हत्या के फर्ज़ी दावे महज एक अफवाह

इस घटना में मुख्य आरोपी अभी भी फरार है. दरभंगा में इसी ज्योति की हत्या हुई जिसे लोगों ने महज नाम मिलने के कारण साइकिल गर्ल से जोड़ दिया और सोशल मीडिया में अफवाह फैला दिया.

लॉकडाउन के दौरान अपने पिता को साइकल पर गुरुग्राम से बिहार के दरभंगा ले जाने वाली लड़की ज्योति पासवान को पूरा देश जान गया. ज्योति को देश में ‘साइकल गर्ल’ के नाम से जाना जाने लगा. पिछले 24 घंटे से सोशल मीडिया (Social Media) के लगभग सभी प्लेटफार्म पर साइकिल गर्ल ज्योति (Cycle Girl Jyoti) के साथ दुष्कर्म और हत्या की खबर वायरल हो रही है, जो कि एक अफवाह है.

सोशल मीडिया पर किया गया दावा गलत है. साइकल गर्ल के नाम से मशहूर ज्योति पासवान ज़िंदा है और सही सलामत है. हां, दरभंगा के ही किसी अन्य गांव में एक ज्योति कुमारी नाम की लड़की की मौत हुई है लेकिन इस मामले में भी बलात्कार की पुष्टि नहीं हुई है.

मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक ये खबर पूरी तरह से बेबुनियाद और असत्य है, जिसे कुछ लोगों ने महज दूसरी लड़की की मौत से जोड़कर अफवाह के तौर पर प्रचारित प्रसारित कर दिया. इसको लेकर दरभंगा पुलिस (Darbhanga Police) ने भी सख्ती दिखाई है. एसएसपी बाबू राम ने गलत खबर पोस्ट करने वाले को चिन्हित कर प्राथमिकी दर्ज करने का आदेश दिया है.

साइकिल गर्ल का नाम जुड़ते इस झूठे खबर को जैसे पंख लग गया और एक दूसरे से बिना सत्यता जाने लोगो ने इस झूठे ख़बर को पोस्ट और शेयर करने लगे. इससे सोशल मीडिया पर बिहार सरकार समेत दरभंगा पुलिस के खिलाफ नकारात्मक माहौल फैलने लगा. लोग न केवल हत्यारे की गिरफ्तारी की मांग करने लगे बल्कि ज्योति को न्याय दिलाने के लिए भी सोशल मीडिया में अभियान शुरू हो गया.

सच क्या है?

आपको बता दें कि ये पूरा अफवाह महज एक नाम की दो लड़कियों के कारण हुआ. 1 जुलाई को दरभंगा के ही पतोर ओपी क्षेत्र के रहने वाले 12 वर्षीय ज्योति पासवान की हत्या उस समय कर दी गई थी जब वो सुबह घर के बगल में अरुण मिश्रा के बागान से आम चुनने गई थी. आरोप है कि बागान मालिक ने अपने बाग को बचाने के लिये नंगा बिजली के तार को फैलाया हुये था जिसमें बिजली का करंट भी दौड़ा रखा था.
इसकी चपेट में आने से ज्योति की मौत की बात कही जा रही है. इस घटना के बाद बहुत सारे लोगों समेत राजनीतिक दल और परिवार के लोगों ने ज्योति के साथ दुष्कर्म होने का भी आरोप लगाया था लेकिन पोस्टमॉर्टम रिपोर्ट में ज्योति के साथ दुष्कर्म की पुष्टि नहीं हुई है. इस घटना में मुख्य आरोपी अभी भी फरार है. दरभंगा में इसी ज्योति की हत्या हुई जिसे लोगों ने महज नाम मिलने के कारण साइकिल गर्ल से जोड़ दिया और सोशल मीडिया में अफवाह फैला दिया.

इस पूरे मामले पर पुलिस समेत दरभंगा के लिए सिरदर्द बन चुके इस अफवाह के बाद SSP बाबू राम ने सोशल मीडिया में उन लोगों को चिन्हित करना शुरू कर दिया है जिन्होंने इस खबर को हवा दी. साइकिल गर्ल ज्योति के कमतौल थाना क्षेत्र के थानाध्यक्ष को वैसे सभी लोगों को चिन्हित कर प्राथमिकी दर्ज कर कानूनी कार्रवाई का आदेश दे दिया है, वहीं कुछ पोस्ट को चिन्हित भी कर लिया गया है.

Tags
Show More

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *