BANNER NEWSBREAKING NEWSअन्यउत्तर प्रदेशकोरोना वायरसछत्तीसगढ़टेकदिल्लीदेशपंजाबप्रदेशबिहारमध्य प्रदेशमहाराष्ट्रराजस्थानशहरसमाजहरियाणा

सुप्रीम कोर्ट का अहम फैसला, CBSE ने रद्द की 10वीं-12वीं की बची हुई परीक्षाएं

सीबीएसई बोर्ड ने अहम फैसला लेते हुए क्लास 12 की बची हुई परीक्षाएं रद्द कर दी हैं. साथ में यह भी कहा गया है कि स्थितियां सामान्य होने पर ये परीक्षाएं दोबारा करायी जाएंगी लेकिन ये परीक्षाएं देना स्टूडेंट्स के लिए अनिवार्य नहीं है. यदि स्टूडेंट्स चाहें तो ये परीक्षाएं दें और नहीं चाहते तो न दें. जो स्टूडेंट्स परीक्षाएं न देने का फैसला लेते हैं, उन्हें पिछले एग्जाम्स के नंबरों के आधार पर पास कर दिया जाएगा.

 

आज (गुरुवार )को देश भर के लाखों स्टूडेंट्स और पैरेंट्स की निगाहें सुप्रीम कोर्ट पर थी. ये निगाहें सीबीएसई की बची हुई परीक्षाओं के अंतिम फैसले का इंतजार कर रहीं थी. केंद्रीय माध्यमिक शिक्षा बोर्ड, CBSE और काउंसिल फॉर इंडियन स्कूल सर्टिफिकेट एग्जामिनेशन, CISCE (ICSE Board) की पेंडिंग परीक्षा तय तारीख पर होगी की नहीं. आज दोपहर 2 बजे सुप्रीम कोर्ट ने अपना अंतिम फैसला सुना दिया है.

सीबीएसई बोर्ड ने अहम फैसला लेते हुए क्लास 12 की बची हुई परीक्षाएं रद्द कर दी हैं. साथ में यह भी कहा गया है कि स्थितियां सामान्य होने पर ये परीक्षाएं दोबारा करायी जाएंगी लेकिन ये परीक्षाएं देना स्टूडेंट्स के लिए अनिवार्य नहीं है. यदि स्टूडेंट्स चाहें तो ये परीक्षाएं दें और नहीं चाहते तो न दें. जो स्टूडेंट्स परीक्षाएं न देने का फैसला लेते हैं, उन्हें पिछले एग्जाम्स के नंबरों के आधार पर पास कर दिया जाएगा.

ICSE ने कहा कि वह भी 10वीं और 12वीं की परीक्षाएं रदद् कर देगा. असेसमेंट के आधार पर रिजल्ट बताया जायेगा. स्थितियां सुधरने पर 12वीं के छात्रों को परीक्षा का विकल्प दिया जाए या नहीं, इस विषय बाद में फैसला किया जाएगा.

CBSE परीक्षा पर केंद्र ने सुप्रीम कोर्ट को यह भी बताया कि मार्किंग की नई व्यवस्था समेत बाकी बातों पर कल तक अधिसूचना जारी कर दी जाएगी. असेसमेंट के आधार पर 10वीं और 12वीं के नतीजे 15 जुलाई तक घोषित कर दिए जाएंगे.

केंद्र ने SC को बताया- CBSE की 1 जुलाई से होने वाली परीक्षा रदद्. 10वीं की परीक्षा पूरी तरह रदद्. 12वीं की परीक्षा स्थिति सुधरने पर आयोजित होगी. हालांकि, इसमें शामिल होना छात्रों के ऊपर. चाहें तो बाद में परीक्षा का विकल्प चुनें. नहीं तो पहले हुई परीक्षाओं के आधार पर अंक मिलेगा.

सीबीएसई ने सुप्रीम कोर्ट को सूचित किया कि 1 जुलाई से तय बाकी पेपरों के लिए बोर्ड परीक्षा रद्द कर दी गई. इस खबर से सीबीएसई के स्टूडेंट्स और पैरेंट्स जरूर राहत की साँस लिए मिली है. केंद्रीय माध्यमिक शिक्षा बोर्ड (सीबीएसई) ने सुप्रीम कोर्ट से कहा कि वह वह 10वीं -12वीं की बची परीक्षाएं नहीं करवाएगा.

Tags
Show More

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *