BANNER NEWSBREAKING NEWSछत्तीसगढ़देश

छत्तीसगढ़ : हैवानियत की हुई हद पार, रेप में नाकाम रहने पर 14 साल की बच्ची को जिंदा जला दिया

देश भर में महिलाओं से दुष्कर्म के सर्वाधिक मामले जिन पाँच राज्यों में हुए हैं, उनमें छत्तीसगढ़ भी शामिल है.

कोरोना वायरस के प्रकोप के चलते इस वक़्त देश भर की जनता अपने अपने घरों में बंद हैं. लेकिन कोरोना संकट के दौर में भी नाबालिग बच्चियों के शारीरिक और मानसिक उत्पीड़न के मामले भी बढ़ गए हैं.

छत्तीसगढ़ से हैवानियत का ऐसा मामला सामने आया है जिसे पढ़कर आपके रोंगटे खड़े हो जाएंगे, यहां 14 साल की एक लड़की को रेप में नाकाम रहने पर जिंदा जला दिया गया.

छत्तीसगढ़ के बेमेतरा ज़िले के एक गाँव में 14 साल की बच्ची के साथ कथित दुष्कर्म की कोशिश के बाद उसे ज़िंदा जला देने का मामला सामने आया है. पीड़िता को गंभीर हालत में राजधानी रायपुर के सरकारी अस्पताल में भर्ती कराया गया था, जहाँ दो दिनों के बाद उसकी मौत हो गई.

पुलिस के अनुसार सोमवार को बेमेतरा ज़िले के दाढ़ी थानांतर्गत एक गाँव में 14 साल की बच्ची बकरी चराने के लिये खेत में गई हुई थी, जहाँ गाँव के ही दो लोगों ने उसके साथ कथित रूप से दुष्कर्म की कोशिश की.

पुलिस का कहना है कि दुष्कर्म में असफल होने के बाद अभियुक्तों ने पीड़िता को जलाने की कोशिश की. पीड़िता के घर से कुछ ही दूर, नदी किनारे हुई इस घटना के बाद बच्ची के शोर मचाने पर गाँव के लोग वहाँ पहुँचे और बच्ची को स्थानीय अस्पताल में भर्ती कराया गया, जहाँ से उसे इलाज के लिये रायपुर भेजा गया था.

बच्ची ने अपने अंतिम बयान में गाँव के ही लोगों की इस घटना में शामिल होने की जानकारी दी थी, जिसके बाद पुलिस ने एक किशोर के अलावा 22 साल के एक युवक को गिरफ़्तार किया है.

गाँव के लोगों का आरोप है कि इस मामले में कुछ रसूखदार लोग शामिल हैं, जिन्हें बचाया जा रहा है. हालाँकि पुलिस ने ऐसे आरोपों से इनकार किया है.

इधर रायपुर ज़िले के खरोरा इलाक़े में अपने एक रिश्तेदार द्वारा दुष्कर्म के बाद 14 साल की बच्ची ने आत्महत्या की कोशिश की. बच्ची को इलाज के लिए रायपुर के अस्पताल में भर्ती किया गया है. बच्ची की हालत गंभीर बनी हुई है.

पुलिस के अनुसार 14 साल की बच्ची अपने घर में अकेली थी, उसी दौरान उसके 19 वर्षीय रिश्तेदार ने उसके साथ दुष्कर्म किया.

भारत सरकार के नेशनल क्राइम रिकॉर्ड ब्यूरो यानी एनसीआरबी के जो सबसे ताज़ा आँकड़े हैं, उसके अनुसार देश भर में महिलाओं से दुष्कर्म के सर्वाधिक मामले जिन पाँच राज्यों में हुए हैं, उनमें छत्तीसगढ़ भी शामिल है.

देश भर में दुष्कर्म के कुल मामलों में से 27.8 फ़ीसदी मामले ऐसे थे, जहाँ पीड़िता नाबालिग थी. छत्तीसगढ़ में दुष्कर्म के कुल मामलों में पीड़ित नाबालिगों की संख्या 58 फ़ीसदी थी.

Tags
Show More

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *