BANNER NEWSBREAKING NEWSअर्थव्यवस्थाछोटा पर्दादेशमनोरंजनमहाराष्ट्रशहरसमाजसिनेमा

आर्टिस्ट्स और श्रमिकों के बिना इश्योरेंस नहीं होगी फिल्मों और सीरियल्स की शूटिंग

फिल्मों से पहले ही टीवी सीरियल की शूटिंग की खबरें आने लगी है. टीवी सीरियल की शूटिंग के लिए निर्माताओं ने दिशा निर्देश के तहत शूटिंग के आवेदन देना शुरू कर दिया है.

 

देश में कोविड 19 के चलते लगभग 54 दिन तक लॉकडाउन रहा है. लॉकडाउन लगने से पहले से ही यानि 19 मार्च से बॉलीवुड में फिल्मों,‌ टीवी व वेब शोज की शूटिंग बंद हैं. 1 जून से लॉकडाउन में रियायत दिये जाने के बाद अब शूटिंग शुरू होने की कवायद तेज हो गयीं हैं. फिल्मों से पहले ही टीवी सीरियल की शूटिंग की खबरें आने लगी है. टीवी सीरियल की शूटिंग के लिए निर्माताओं ने दिशा निर्देश के तहत शूटिंग के आवेदन देना शुरू कर दिया है.

लेकिन सिने एंड टीवी आर्टिस्ट्स एसोसिएशन (सिंटा) ने फिल्मों, टीवी और वेब शोज अर्थात किसी भी तरह की शूटिंग आरंभ करने से पहले कलाकारों को कोविड-19 के‌ तहत इंश्योरेंस देने की मांग फिल्म व टीवी निर्माताओं के सामने पेश की है. सिंटा के सीनियर ज्वाइंट सेक्रेटरी अकित बहल ने न्यूज़ चैनल एबीपी न्यूज़ को दिये इंटरव्यू में कहा कि सिंटा अपने तमाम कलाकारों के लिए इंश्योरेंस कराना चाहता है उन्होंने ने कहा कि इंश्योरेंस को लेकर बहुत समय से बात चल रही है.

उन्होंने कहा कि इस मसले को इंडियन ब्रॉडकास्टर्स एसोसिएशन (IBA) और इंडियन फिल्म ऐंड टेलीविजन प्रोड्यूसर्स काउंसिल (IFTPC) के बीच बातचीत लास्ट स्टेज में पहुंच गया है. अमित बहाल ने आगे बताया कि इंश्योरेंस का खर्च ब्रॉडकास्टर्स अर्थात सारे टीवी चैनल्स और विभिन्न निर्माताओं की बॉडी को उठाना करना है और इसकी जिम्मेदारी कौन कितनी उठाता है, ये दोनों को मिलकर इस पर बात करेंगे है. उन्होंने कहा कि जैसे ही इंश्योरेंस को लेकर सारी प्रकिया पूरी हो जाएगी, निर्माताओं को मिली शूटिंग के अनुसार शूटिंग स्टार्ट हो सकेगी.

बता दें कि इससे पहले कोलकाता में शूटिंग शुरू होने से पूर्व वहां के कलाकारों को 25 लाख रुपये का बीमा दिया गया है जिसके तहत किसी कलाकार को यदि कोविड-19 होता है तो उसके इलाज का खर्च राज्य सरकार उठाएगी. परन्तु अमित बहल का कहना है कि मुंबई के कलाकारों के लिए बीमे की यह राशि वहा की राशि से अधिक होगी. उन्होंने ने बताया कि इसे पहले भी शूटिंग को लेकर कई मूवी और सीरियल के‌ निर्माता अपने यूनिट के कलाकारों के लिए इंश्योरेंस कराते ही हैं. जिसमे अब कोविड-19 को भी जोड़ दिया जाएगा, जो कि कोरोना संकट के लिए बहुत आवश्यक है.

फेडरेशन ऑफ वेस्टर्न ‌इंडिया सिने एम्प्लॉइज (FWICE) के तहत तकरीबन 5 लाख मजदूर व तकनीशियन काम करते हैं तो वहीं FWICE तहत काम करनेवाले अलायड मजदूर यूनियन (AMU) में 45,000 श्रमिक कार्यरत हैं. यूनियन के‌ ट्रेजरर राकेश मौर्य के अनुसार जब तक सभी मजदूरों को कोविड 19 के तहत बीमा नहीं होगा, तब तक शूटिंग आरंभ नहीं होगी है. FWICE और यूनियन की ओर से श्रमिकों को प्रतिदिन मजदूरी देने की मांग भी निर्माताओं से हुई है. इसके‌ अतिरिक्त FWICE और‌ AMU ने शूटिंग शुरू होने से पहले एक शर्त रखी है जिसमें कहा गया कि कि श्रमिकों और तकनीशियनों के पहले की बकाया सैलरी दी जाए.

बता दें कि सीरियल निर्माता और IFTPC के‌ अध्यक्ष जे. डी. मजीठिया के अनुसार सीरियल निर्माताओं ने सरकार द्वारा जारी‌ दिशा-निर्देशों के अनुसार शूटिंग शुरू करने की तैयारी पूरी हो गई है. बहुत से सीरियल्स की शूटिंग शुरू करने की इजाजत भी‌ मिल गयी है. सीरियल्स की शूटिंग 25 से 30 जून के‌ मध्य शुरू हो सकती हैं.

Tags
Show More

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *