BANNER NEWSBREAKING NEWSUncategorizedदिल्लीदेशराजनिती

कोरोना वायरस के कारण राज्यसभा चुनाव स्थगित, 26 मार्च को होना था चुनाव

अप्रैल में राज्यसभा की 55 सीटें रिक्त हो रही हैं, इस रिक्त स्थान को भरने के लिए लेकर 26 मार्च को जो चुनाव होना था, जो अब नहीं हो सकेगा . चुनाव आयोग ने यह चुनाव कोरोना वायरस के बढ़ते प्रकोप को को देखते हुए स्थगित कर दिया है

 

राज्यसभा की 55 खाली सीटों पर 26 अप्रैल को चुनाव होने वाला था. कोरोना वायरस के बढ़ते खतरे को देखते हुए चुनाव को स्थगित कर दिया गया है. भारत में कोरोना वायरस से संक्रमण के अभी तक 562 मामले सामने आ चुके है, जिनमे से 9 लोगों को मौत हो चुकी है. जिसके कारण पूरे शहर को 21अप्रैल तक लॉकडाउन किया जा चुका है. जिसके बाद लोगों को सोशल डिस्टेन्स बनाए रखने की अपील की जा रही है. अप्रैल में राज्यसभा की 55 सीटें रिक्त हो रही हैं, इस रिक्त स्थान को भरने के लिए लेकर 26 मार्च को जो चुनाव होना था, जो अब नहीं हो सकेगा . चुनाव आयोग ने यह चुनाव कोरोना वायरस के बढ़ते प्रकोप को को देखते हुए स्थगित कर दिया है.

केंद्रीय चुनाव आयोग ने घोषणा किया है कि देश भर में कोरोना के बिगड़ते हुए हालातों के कारण राज्यसभा की सीटों के लिए होने वाले चुनाव को फिलहाल स्थगित किया जा रहा है, यह नहीं कहा जा सकता आगे क्या होगा, क्योंकि यह फैसला हालातों पर निर्भर करता है.

बता दें कि फरवरी में चुनाव आयोग ने राज्यसभा की 55 सीटों पर चुनाव के लिए अधिसूचना जारी किया था. इन 55 सीटों में से 10 राज्यों की 37 राज्यसभा सीटों पर निर्विरोध सदस्य चुन लिए गए हैं. जिसके बाद 26 मार्च को 7 राज्यों की 18 सीटों के लिए चुनाव था, जिसे कोरोना वायरस के बढ़ते ख़तरे को देखते हुए राज्यसभा चुनाव को चुनाव आयोग ने टाल दिया है. अप्रैल में जो सीटें राज्यसभा में रिक्त हो रही है, जिनमें से सबसे अधिक सीटें महाराष्ट्र की थीं और उसके बाद तमिलनाडु, बंगाल और बिहार का आता हैं. 10 राज्यों में 37 सीटों पर चुनाव की आवश्यकता ही नहीं रही क्योंकि जो सदस्य सामने आए थे. वह निर्विरोध चुन लिए गए हैं.

राज्यसभा की जो 55 सीटें अप्रैल महीने में रिक्त हैं उनमें से 7 सीटें महाराष्ट्र से थीं तो 6 सीटें तमिलनाडु से. वही बंगाल और बिहार से भी 5-5 सीटे थी. इन सभी सीटों के राज्यसभा उम्मीदवारों का कार्यकाल अप्रैल में खत्म हो रहा है. ओडिशा, आंध्र तथा गुजरात के चार -चार राज्यसभा सांसदों का कार्यकाल सम्पात हो रहा है तो आसाम, मध्य प्रदेश और राजस्थान की 3-3 पर, जिसके बाद इन सभी सीटों पर चुनाव होना था. वहीं अप्रैल में ही तेलंगाना, छत्तीसगढ़, हरियाणा और झारखंड से भी 2-2 राज्यसभा सीटें रिक्त हो रही थीं तो इसके साथ ही मेघालय, मणिपुर और हिमाचल से 1-1 राज्यसभा सीट भरी जानी थी.

Tags
Show More

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *