BANNER NEWSBREAKING NEWSजरा हटकेविविध

अंधेरी स्टेशन में उजाला दिखाता “यमराज”

क्या काम आएगा रेलवे का ये “यमराज” वाला आइडिया

यमराज, ये नाम सुनते ही बड़ा डर लगता है. क्योंकि हिंदु धर्म के अनुसार यमराज “गॉड ऑफ डेथ” कहे जाते हैं. ऐसा माना जाता है कि मरने के बाद यमराज इंसान के शरीर से आत्मा को निकाल कर ले जाते हैं. लेकिन अगर वहीं यमराज लोगों की जान बचाने में जुट जाए तो.. सुनकर बहुत अटपटा सा लगता है न.

लगे भी क्यों न कल तक मौत देने वाले यमराज आज जीवन दान कैसे दे रहे हैं. दरअसल पश्चिम रेलवे ने एक ऐसी ही अजीब तरकीब निकाली है. पश्चिम रेलवे के द्वारा एक यमराज हायर किया गया है. जिसकी वेश-भूषा यमराज की तरह है. मतलब यमराज के वेश-भूषा पहने व्यक्ति जो लोगों को रेलवे ट्रैक पार करने से रोकता है और यहां तक की उठा कर सुरक्षित जगह पर छोड़ कर आता है. पश्चिम रेलवे के तरफ से ट्विटर पर एक पोस्ट डाला गया है जिसके साथ एक विडियो भी है जिसमें यमराज लोगों को उठाकर सुरक्षित जगह पर पहुंचा देते हैं. वीडियो में यमराज ये कहते भी नजर आ रहे हैं कि जो पटरी क्रॉस करेगा उसे उठाकर ले जाऊंगा जिसके बाद वो व्यक्ति कथित यमराज की तरह जोड़-जोड़ से हंसने लगता है.

इसमें कोई संदेह नहीं है कि पश्चिम रेलवे का ये कदम तारीफ के काबिल है लेकिन रेलवे को आखिर ऐसा आइडिया क्यों इजाद करना पड़ा. पश्चिम रेलवे खास कर के मुंबई में लोकल ट्रेन वहां की लाइफ लाइन मानी जाती है. ज्यादातर लोग वहां ट्रेन से ही ट्रैवल करते हैं. तो ऐसे में बहुत से लोग हैं जो रेलवे क्रॉसिंग जैसे सवंदेनशील मुद्दें पर ज्यादा ध्यान नहीं देते हैं. और पटरियों के बीच से ही एक प्लेटफॉर्म से दूसरे प्लेटफॉर्म तक चले जाते हैं. ऐसे में पटरियों के बीच से गुजरने के कारण हादसे होते हैं, ऐसे हादसों को रोकना पश्चिम रेलवे के लिए काफी मुश्किल हो गया था. लेकिन अब पश्चिम रेलवे ने इसका भी हल निकाल लिया है. उन्होंने एक यमराज को ड्यूटी पर रखा है और जो कोई भी पटरी पार करता नजर आता है, वो यमराज उन लोगों को उठाकर सुरक्षित जगह पर ले जाते हैं. सोशल मीडिया पर ये वीडियो तेजी से वायरल हो रहा है. इस वीडियो को ट्विटर पर खुद रेलवे ने पोस्ट किया है.

यह यमराज वाला आइडिया रेलवे के जागरूकता अभियान के तहत चलाया जा रहा है और ये एक्सपेरिमेंट फिलहाल अंधेरी और मलाड स्टेशनों पर किया गया है. ये दोनों स्टेशन में दूसरी तरफ जाने के लिए पटरियों से कूदकर जाने वाले लोगों के लिए लोकप्रिय है.

अब तो ये आने वाला वक्त ही बताएगा कि रेलवे का ये जागरूकता अभियान कितना कारगर साबित होता है.

Tags
Show More

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *